रणथम्भोर नेशनल पार्क – जंगल सफारी के लिए कौनसा ज़ोन है सबसे बेहतर..

रणथम्भोर नेशनल पार्क – जंगल सफारी के लिए कौनसा ज़ोन है सबसे बेहतर..

मैं अक्सर लोगों को यह पूछते हुए देखता हूं कि जंगल सफारी के लिए जाना हो तो किसी नेशनल पार्क का सबसे अच्छा जो़न कौनसा होगा। रणथम्भोर के लिए भी यही सवाल बहुत बार पूछा जाता है। अच्छे ज़ोन से लोगों का सीधा मतलब होता है कि किस ज़ोन में बाघ के दिखाई देने की संभावना सबसे ज़्यादा है। मेरे जैसे जंगल को पंसद करने वाले, किसी सफारी गाइड या वाइल्‍ड लाइफ सफारी से जुड़े किसी व्यक्ति से पूछेंगे तो जवाब यही मिलेगा कि जंगल में हर ज़ोन एक जैसा है। यह जंगल है चिड़ियाघर नहीं कि आप जब चाहें मनचाहे जानवर देख पाएं। आप जंगल का मजा लेने जाईए जो जंगल दिखा दे उसे देखकर पूरा आनंद लें। 

लेकिन यह भी सच है कि आप कितना भी जंगल को पंसद करते हों फिर भी बाघ को देखने की इच्छा अलग ही होती है और उसे देखने पर अलग तरह का सुकून मिलता है। तो क्या रणथम्भोर में ऐसा कोई ज़ोन है जहां बाघ दिखाई देने की संभावना सबसे ज़्यादा है। इस सवाल का सीधा उत्तर तो वही हो सकता है जो मैंने ऊपर लिखा है। फिर भी मैं अपने रणथम्भोर के अपने अनुभव से कह सकता हूं कि कुछ ज़ोन हैं जहां बाघ के दिखाई देने की संभावना दूसरे ज़ोन के मुकाबले ज़्यादा है, लेकिन यह संभावना ही है इसे 100 % नहीं माना जा सकता है। 

पढ़ें – रणथम्भोर नेशनल पार्क – इतिहास और प्रकृति का अनोखा मेल

सबसे ज़्यादा संभावना वाला ज़ोन-

बाघ के दिखाई देने की सबसे ज़्यादा संभावना वाले ज़ोन के तौर पर ज़ोन 3 का नाम लिया जा सकता है। यह मैं अपने अनुभव के आधार पर यह कह रहा हूं। मैं पिछले काफी वर्षों से रणथम्भोर जा रहा हूं और जब भी मैंने ज़ोन 3 में सफारी ली है मुझे हर बार बाघ दिखाई दिए हैं। अब मैं कोशिश करता हूं कि कम से कम एक सफारी ज़ोन 3 में लूं। अभी पिछले साल ही मैं रणथम्भोर गया था और ज़ोन 3 में एक ही सफारी में तीन व्यस्क बाघों के दर्शन हुए। लेकिन यहां यह बात ध्यान रखने वाली है कि ज़ोन 3 का मतलब यह नहीं है कि आपको हर हालत में बाघ दिखाई दे ही जाएगी। कई बार गाईड्स ने मुझे बताया है कि ज़ोन 3 में भी बहुत बार बाघ दिखाई नहीं देते। इसलिए ज़ोन 3 भी जाएं तो जंगल के जीवन का मज़ा लेने के लिए जाएं और अगर बाघ दिखाई दे जाए तो समझिए की जंगल आज आप पर ज्यादा मेहरबान है। 

ज़ोन 3 में बाघ

क्यों है ज़ोन 3 खास –

पदम तालाब और उसके पीछे दिखाई देता राज बाग तालाब

ज़ोन में बाघों के दिखाई देने की संभावना के लिए पीछे प्राकृतिक स्थिति का बहुत बड़ा हाथ है। रणथम्भोर नेशनल पार्क में पानी की तीन बड़ी झीले हैं। ये झीलें है – पदम तालाब, मलिक तालाब और राज बाग तालाब । ये तीनों ही झीलें ज़ोन 3 में पड़ती हैं। झील के कारण जानवरों को पीने के लिए पानी मिलता है। पानी के किनारे शिकार करने के लिए दूसरे जानवर भी मिल जाते हैं इसलिए बाघ यहां की झीलों के पास अक्सर दिखाई दे जाते हैं। अगर आप अप्रेल से जून के गर्म मौसम में है तो यह संभावना और भी ज्यादा हो जाती है। 

लेकिन ऐसा नहीं है कि यहां केवल बाघ ही दिखाई देंगे इस तालाबों के किनारे देशी-विदेशी परिंदे भी बड़ी संख्या में दिखाई देते हैं। अगर आपको बर्ड वाचिंग पसंद है तो भी आपके यह ज़ोन बहुत पसंद आएगा। मलिक तालाब का एक हिस्सा ज़ोन 4 में भी पड़ता है। ज़ोन 4 में बाघ के दिखाई देने की संभावना काफी रहती है। 

रणथम्भोर में कुल कितने ज़ोन हैं- 

फिलहाल रणथम्भोर नेशनल पार्क में कुछ 10 ज़ोन हैं। शुरूआत में पार्क में 5 ज़ोन थे फिर धीरे-धीरे बाघों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यहां ज़ोन बढ़ाए गए। पार्क में बाघों के संरक्षण का बेहतरीन काम होने के कारण यहां बाघों की आबादी अच्छी तरह बढ़ रही है। अच्छी आबादी होने के कारण अब हर ज़ोन में बाघ के दिखाई देने की संभावना है। लगभग हर ज़ोन से ही बाघ के दिखाई देने की ख़बरें आती रहती हैं। मैं खुद ज़ोन 8 में भी बाघ देख चुका हूं। हाल ही में ज़ोन 10 में बाघों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर दिखाई दी थीं। 

 

ज़ोन कैसे चुनें –

रणथम्बोर में सफारी की ऑनलाइन बुकिंग करते समय आप मनपसंद ज़ोन चुन सकते हैं।  अगर स्लाट खाली है तो आपको बुकिंग मिल जाएगी। आप ज़ोन 3 या ज़ोन 4 में कम से कम एक सफारी लेने की कोशिश कर सकते हैं। अगर इन ज़ोन में एक भी बुकिंग न मिल पाए तो भी निराश होने की ज़रूरत नहीं। मैं आपको बता ही चुका हूं कि आपको किसी भी ज़ोन में बाघ दिखाई दे सकता है। हर ज़ोन की प्राकृतिक स्थिति भी अलग है किसी में झीलें हैं, किसी में पहाड़ी इलाका तो किसी में दूर-दूर तक फैले घास के मैदान। जिस किसी ज़ोन में जाएं वहां की प्राकृतिक ख़ूबसूरती का भरपूर आनंद लें। 

पढ़ें – रणथम्भोर में जंगल सफारी की बुकिंग कैसे करें

बाघ के अलावा क्या देख सकते हैं – 

अगर आप जंगल सफारी  जा रहे हैं तो इस बात को हमेशा ध्यान रखें कि जंगल का मतलब केवल बाघ नहीं होता है। जंगल में पूरा ईको सिस्टम होता है और बाघ भी उसका एक हिस्सा है। जंगल में आपके अलग-अलग तरह के जानवर, परिदें और पेड़-पौधे दिखाई देते हैं। प्राकृतिक तरीके के फल-फूल रहे इन जानवरों को देखने का अलग ही मज़ा है। चाहे वह कोई हिरण या नील गाय जैसा आम तौर से हमेशा दिखाई देने वाला जानवर ही क्यों न हो।

पलाश के पेड़ के नीचे नील गाय

रणथम्भोर में कई ऐसे जानवर भी है जिनका दिखाई देना बाघ की तुलना में बहुत मुश्किल जैसे भालू या तेंदुआ। मुझे एक बार ज़ोन 6 में भालू दिखाई दिया है। इसी तरह तेंदुएं की एक झलक ज़ोन 2 में दिखाई दी है। इसी तरह अगर मार्च महीने में जा रहे हैं तो आपको रणथम्भोर में पलाश के फूल खिले दिखाई देंगे। पलाश के फूलों से ढ़के जंगल का शानदार नज़ारा देखना हो तो ज़ोन 7 जा सकते हैं। लाल फूलों के कारण पलाश को ‘Flame of The Forest’ भी कहा जाता है।

पलाश के फूलों से ढ़का ज़ोन 7

तो यह कहा जा सकता है रणथम्भोर नेशनल पार्क में कुछ ज़ोन ऐसे हैं जहां बाघ के दिखाई देने की संभावना ज़्यादा है। लेकिन आप सफारी पर जाएं तो पूरे खुले दिल से जाएं और जंगल की हर चीज़ का पूरा आनंद लें। 

©️duniadekho.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *