पटनीटॉप को नई पहचान दे रहा है स्काईव्यू पटनीटॉप – रोपवे के साथ एडवेंचर स्पोर्ट्स का मज़ा

पटनीटॉप को नई पहचान दे रहा है स्काईव्यू पटनीटॉप – रोपवे के साथ एडवेंचर स्पोर्ट्स का मज़ा

पिछले साल दिसंबर की एक खूबसूरत शाम मैं रोपवे से पटनीटॉप की तरफ बढ़ रहा था। पिछले कुछ दिनों से पटनीटॉप में भारी बर्फबारी हो रही थी। रोपवे से चलने के 5 मिनट बाद ही बर्फ से ढ़का पटनीटॉप नज़र आने लगा।

Skyview Patnitop roapway
बर्फ से ढ़का पटनीटॉप

रोपवे की ऊंचाई से तो यह नज़ारा बहुत शानदार दिखाई दे रहा था। चारों तरफ बर्फ से लदे देवदार के पेड़ दिखाई दे रहे थे। करीब 10-12 मिनट के बाद ही मैं पटनीटॉप पर था। रोपवे स्टेशन के बाहर हर तरफ बर्फ छायी हुई थी और मेरे पहुंचने के साथ ही बर्फबारी फिर से शुरू हो गई।

Skyview Patnitop roapway
SkyView Patnitop Upper terminal

मौसम के इस नज़ारा का पूरा मज़ा लिया। बर्फबारी के कारण पटनीटॉप तक पहुंचने का रास्ता बंद था इसलिए रोपवे स्टेशन के पास ही कुछ देर वहां बिताकर अब वापस नीचे की तरफ चले। शाम के साथ पटनीटॉप पर ठंड बहुत बढ़ गई थी। स्काईव्यू पटनीटॉप से मेरा पहला परिचय शानदार रहा था। 

पढ़ते समय शायद आपने गौर किया होगा कि मैंने पटनीटॉप पहुंचने के लिए रोपवे का इस्तेमाल किया था। शायद आप में से बहुत से लोग चौंके भी होंगे कि पटनीटॉप और रोपवे? क्योंकि अगर जम्मू-कश्मीर में केबलकार रोपवे या गोंडोला की बात होती है तो गुलमर्ग रोपवे ही ध्यान आता है। लेकिन अब पटनीटॉप में भी स्काईव्यू पटनीटॉप के नाम से रोपवे की शुरुआत हुई है। 

Skyview Patnitop roapway

आधुनिक और सुरक्षा के अंतरराष्ट्रीय मानकों के साथ बना स्काईव्यू पटनीटॉप कई मायनों में अलग है। यह केवल एक रोपवे नहीं बल्कि अपने आप में एक डेस्टिनेशन है। यहां रोपवे के साथ कई तरह के एडवेंचर स्पोर्ट्स और खाने-पीने का मजा लिया जा सकता है।

स्काईव्यू पटनीटॉप पर मेरा Youtube वीडियो यहां देखें

क्या है स्काईव्यू पटनीटॉप 

स्काईव्यू पटनीटॉप एक रोपवे है जो पटनीटॉप से करीब 20 किलोमीटर नीचे संगेट को रोपवे के ज़रिए पटनीटॉप से जोड़ता है। इस रोपवे को रोपवे बनाने में दुनिया की जानी मानी फ्रांसीसी कंपनी पोमा के साथ मिलकर तैयार किया गया है। इसे बनाने में सबसे आधुनिकतम तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। इसे सुरक्षा के लिए यूरोप का सीईएन सर्टिफिकेट भी मिला है। 

Skyview Patnitop roapway cablecar
स्काईव्यू रोपवे

रोपवे के दो हिस्से हैं – लोअर टर्मिनल और अपर टर्निमल। लोअर टर्मिनल संगेट में है जहां से रोपवे की शुरुआत होती है। अपर टर्मिनल पटनीटॉप में है जहां रोपवे खत्म होता है। इस रोपवे की लंबाई 2.8 किलोमीटर की है। इस दूरी को 10-12 मिनट में तय किया जा सकता है।

Skyview Patnitop roapway_ Lower Terminal

यह 65 मीटर की ग्राउंड क्लीयरंस वाला भारत का अकेला रोपवे है। इस रोपवे में कुल 18 केबिन हैं और प्रत्येक केबिन में 8 लोग बैठ सकते हैं।

Skyview Patnitop roapway

स्काईव्यू केवल एक रोपवे ही नहीं है बल्कि यहां आकर आप अपना पूरा दिन बिता सकते हैं। इसे एक एडवेंचर डेस्टिनेशन की तरह विकसित किया गया है। यहां लोअर टर्मिनल पर ज़िप-लाइन, मैजिक कार्पेट, ट्यूबिंग स्लेज जैसे एडवेंचर स्पोर्ट्स का मजा लिया जा सकता है। स्काईव्यू में रोपवे और एडवेंचर स्पोर्ट्स के अलग-अलग पैकेज मौजूद हैं। स्काईव्यू पटनीटॉप की वेबसाइट पर इनके बारे में पूरी जानकारी ली जा सकती है।

एडवेंचर स्पोर्ट्स

लोअर टर्मिनल पर कई तरह के एडवेंचर खेलों का मज़ा लिया जा सकता है। यहां का ज़िप -लाइन बेहद खास है। यह जिग-जैग लाइन पर बना भारत का सबसे लंबा ज़िप-लाइन है। जिग-जैग बना होने के कारण इसकी एक लाइन से दूसरी लाइन पर जाने का काम खुद ही करना पड़ता है जिससे कारण इसका रोमांच बहुत बढ़ जाता है। मुझे खुद ज़िप-लाइन में बहुत मज़ा आया । 

रोमांच के शौकीन यहां ट्यूबिंग स्लेज का मजा भी ले सकते हैं। इसके अलावा यहां मैजिक कार्पेट भी है। बच्चों को इसमें बहुत मज़ा आएगा। 

खाने-पीने की सुविधा 

यहां की खूबियों में एक है यहां का खाना। दिल्ली से चल कर देर शाम मैं यहां पहुंचा था। यहां पहुंचने की शानदार नाश्ते और कश्मीर की खासियत कहवा के साथ स्वागत हुआ। यहां का खाने की इतनी अच्छी सुविधा देखकर मैं हैरान था। किसी रोपवे पर मुझे इतना अच्छा खाना मिलेगा इसकी कल्पना मैंने नहीं की थी।

यहां खाने के लिए कई तरह के विकल्प मौजूद है। जिसमें स्काईव्यू कैफे, द बनाना लीफ और द वोक शामिल हैं। स्काईव्यू कैफे में आप प्राकृतिक नजारों का मजा लेते हुए काफी की चुस्कियां ले सकते हैं।

अगर आप पूरी तरह शाकाहारी खाना पसंद करते हैं तो द बनाना लीफ में जा सकते हैं। यह शाकाहारी फाइन डाइनिंग रेस्टोरेंट है।

अगर आप ओरिएंटल फूड का मजा लेना चाहते हैं तो द वोक में जा सकते हैं। इसके अलावा जल्दी ही अपर टर्मिनल में भी एक रेस्टोरेंट बनाने की योजना है।

पटनीटॉप को स्काईव्यू रोपवे से फायदा

पटनीटॉप जम्मू के नजदीक छोटा सा प्यारा हिल स्टेशन है। मैं करीब बारह साल पहले पहली बार पटनीटॉप गया था। उस समय दो दिन यहां रुका था और यह जगह ख़बूसूरत जगह मुझे काफी पसंद आई थी। पटनीटॉप जितना ख़बूसूरत है यहां उस हिसाब से यहां ज्यादा पर्यटक नहीं आते। पटनीटॉप की खासियत है कि इसे किसी भी मौसम में देखा जा सकता है। गर्मियों में यहां के हरे-भरे घास से मैदानों और पहाड़ों का मज़ा लिया जा सकता है तो सर्दियों में सफेद बर्फ आपका स्वागत करेगी।

इसकी एक वजह तो यह है कि पहाड़ों और बर्फ की वादियों देखने वाले पर्यटक कश्मीर घाटी का रुख कर लेते हैं। जम्मू की तरफ आने वाला पर्यटकों की बड़ी संख्या वैष्णो देवी मंदिर के दर्शन करके वापस चली जाती है। जबकि पटनीटॉप कटरा के बहुत पास है। अब तो कटरा तक ट्रैन आने से यहां पहुंचना भी काफी आसान हो गया है। 

स्काईव्यू रोपवे के शुरू होने से पटनीटॉप को नई पहचान मिलेगी। रोपवे से इसके आकर्षण में बढ़ोतरी होगी। इसके साथ एडवेंचर स्पोर्ट्स से जुड़ी दूसरी सुविधाएं भी लोगों को यहां खींच कर ला सकती हैं। वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए बड़ी संख्या में आने वाले पर्यटकों को आसानी से पटनीटॉप लाया जा सकता है। 

संगेट से अगर सड़क के रास्ते पटनीटॉप जाते हैं तो कम से कम 30 मिनट का समय लगता है।पर्यटन के सीज़न में गाड़ियों के जाम की समस्या भी होती है, उस समय इस दूरी को तय करने में काफी ज्यादा समय लग जाता है। रोपवे से केवल 10 मिनट में इस दूरी को तय किया जा सकता है। रोपवे के इस्तेमाल से रोमांच का मजा लेने के साथ पटनीटॉप जाने वाले पर्यटकों का समय भी बचेगा।

क्या देखें

स्काईव्यू पटनीटॉप आने वाले पर्यटक पटनीटॉप में रुक सकते हैं। पटनीटॉप में पहाड़ों की प्राकृतिक सुन्दरता, घास के मैदान और नाग मंदिर को देखा सकता है। पटनीटॉप के पास ही नत्थाटॉप है जहां से बर्फ से ढ़के पहाड़ों को देखा जा सकता है। कुछ दिन सुकून से बिताने के लिए पटनीटॉप बढ़िया जगह है।

कैसे पहुंचे 

हवाई रास्ता – जम्मू सबसे नज़दीक का हवाई अड्डा है। देश के बड़े शहरों से जम्मू के लिए नियमित उड़ान उपलब्ध है। जम्मू से स्काईव्यू पटनीटॉप करीब 96 किलोमीटर दूर है। टैक्सी के जरिए यह दूरी करीब 2 घंटे में तय की जा सकती है। जम्मू को श्रीनगर से जोड़ने वाले NH44 नेशनल हाइवे पर होने के कारण यहां पहुंचना आसान हो गया है। हाइवे को चौड़ा करने का काम भी चल रहा है। 

ट्रैन –  ट्रैन से आने वाले पर्यटक अपनी सुविधा के हिसाब से जम्मू, उधमपुर या कटरा उतर सकते हैं। स्काईव्यू पटनीटॉप उधमपुर से करीब 30 किलोमीटर और कटरा से करीब 70 किलोमीटर है। 

सड़क- जम्मू से टैक्सी के जरिए यहां पहुंचने में करीब 2 घंटे का समय लगता है। 

कहां रहें

पटनीटॉप में रहने के लिए काफी होटल उपलब्ध हैं। पटनीटॉप में होटल बुक करने में स्काईव्यू आपकी सहायता कर सकता है। स्काईव्यू जाकर केवल रोपवे और एडवेंचर स्पोर्ट्स का मजा लेना चाहते हैं तो कटरा या जम्मू से पूरे दिन का ट्रिप भी बनाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *