Browsed by
Category: Indonesia

बाली भारतीयों के लिए क्यों है बेहतर जगह ?

बाली भारतीयों के लिए क्यों है बेहतर जगह ?

इंडोनेशिया का एक द्वीप है बाली। अपनी प्राकृतिक सुन्दरता, अनोखी हिन्दु संस्कृति, सफेद रेत से भरे समुद्र तटों और नाइट लाइफ के लिए इसे दुनिया भर में जाना जाता है। दुनिया भर से पर्यटक घूमने के लिए बाली आते हैं। पर बाली में कुछ बाते हैं जो इसे भारतीयों के लिए खास बनाती हैं। यहां मैंने उन्हीं को बताने की कोशिश की है।

1- भारतीयों के लिए वीजा फ्री


कहीं बाहर जाने से पहले मेरा पहला ध्यान जाता है उस देश के वीजा लेने की प्रक्रिया पर। आप सबका ध्यान भी सबसे पहले वीजा पर ही जाता होगा क्योंकि किसी दूसरे देश में जाने से लिए सबसे पहले वीजा लेना जरूरी होता है। वीजा लेना आसान काम नहीं है लेकिन बाली इस मामले में भारतीयों के लिए एक आसान जगह है।
बाली इन्डोनेशिया का हिस्सा है और इन्डोनेशिया में भारत का पासपोर्ट रखने वालों के लिए वीजा ऑन अराइवल की सुविधा उपल्बध है। इसका मतलब है कि बाली जाने से पहले आपको वीजा के लिए किसी ऑफिस या दूतावास के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है। बस टिकट लीजिए और सैर पर निकल जाइये। वीजा ऑन अराइवल की यह सुविधा भारतीयों के लिए पूरी तरह से मुफ्त भी है।

2- हवाई सेवा-


भारत से बाली जाने के लिए हवाई सेवाओं के ढेरों विकल्प उपल्बध हैं। अपनी पसंद और बजट के हिसाब से हवाई सेवा का चुनाव किया जा सकता है। इसमें मलेशिया एयरलाइन, इन्डोनिया की गरूड़ एयरलाइन, सिंगापुर एयरलाइन जैसी फुल फेयर और एय़र एशिया और मलिन्डो एय़र जैसे कुछ सस्ती हवाई सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। दिल्ली से बाली का टिकट औसत 25000 से 30 हजार के बीच खरीदा जा सकता है। अगर कुछ महीने पहले योजना बनाकर टिकट खरीदें तो इसे 19-20 हजार के बीच भी खरीदा जा सकता है। बाली जाने में एक ही कमी है कि फिलहाल भारत से मुंबई को छोड़कर किसी दूसरे शहर से बाली के लिए सीधी उड़ान उपल्बध नहीं है । मुंबई से भी हाल ही में इन्डोनेशिया की गरूड़ एय़रलाइन ने सीधी उड़ान सेवा शुरू की है।
भले ही उड़ान सेवा सीधी उपलब्ध ना हो लेकिन फिर भी करीब 10-11 घंटे के बीच दिल्ली से बाली आराम से पहुंचा जा सकता है।

3- एक जैसी संस्कृति-


बाली भारतीयों के एक संस्कृति के लिहाज से भी खास है। यह है ऐसा द्वीप है जो हिन्दू बहुत है यहां की लगभग 85 फीसदी मूल आबादी हिन्दू है।सैंकड़ों वर्षों से बाली एक हिन्दू बहूल इलाका है। हालांकि किसी समय पूरा इन्डोनेशिया ही हिन्दू बहुल हुआ करता था। लेकिन बाद में मुस्लिम धर्म के प्रभाव में बाली के अलावा पूरा देश मुस्लिम धर्म बहुत हो चुका है। खास बात है कि इन्डोनिशया के मुस्लिम बहुत होते हुए भी बाली में पूरी तरह हिन्दू प्रभाव ही दिखाई देता है। यहां के हिन्दू धर्म का पूजा पद्धति भारत से अलग है। यहां मुख्य रूप से ब्रह्मा , विष्णु और महेश की पूजा की जाती है। यहां लगभग हर घर में एक बड़ा मंदिर बना होता है। यहां बहुत से प्रसिद्घ मंदिर हैं जिनकी सैर की जा सकती है।

4- हर बजट में रहने की सुविधा-

बाली में हर बजट के यात्री के लिए रहने के ठिकाने उपलब्ध हैं। यहां एक से बढ़कर आलीशान रिजॉर्ट्स से लेकर सस्ते हॉस्टल तक सब कुछ मिल जाते हैं। यहां 1000 भारतीय रूपयों में कमरा आसानी से मिल जाता है। ऊपर के बजट की तो कोई सीमा ही नहीं है।

5- मौज-मस्ती का ठिकाना

बाली मौज मस्ती के लिए सही जगह है। अगर आपको नाइटलाइफ पसंद है तो बाली आपके लिए बिल्कुल सही है। यहां के समुद्र के किनारे के बाजारों में ढरों नाइटक्लब, पब और रेस्टोरेंट्स हैं जिनमें आप देर रात तक मस्ती कर सकते हैं। बजट के लिहाज से भी ये बहुत मंहगें नहीं हैं।

(This trip was sponsored by Indonesia tourism and Malindo air. Views expressed here are mine.)